मलेरिया (maleriya) रोग होने के कारण,लक्षण,बचाव क्या है?

मलेरिया(maleriya) क्या है?

 मलेरिया एक बेहद संवेदनशील संक्रामक रोग है जो किसी भी उम्र के मानव को हो सकता है। यह रोग इतना भयानक और खतरनाक है की मन जाता है की लगभग 50 करोड़ लोग हर साल इससे प्रभावित होते है जिसमे से 15 से 25 लाख लोग की मृत्यु भी हो जाती है।इसके रोकथाम के लिए और लोगो को इस रोग की जानकारी देने के लिए 25 अप्रैल को विश्व में मलेरिया दिवस मनाया जाता है। यह रोग खास कर के बरसात के दिनों में जयादा मच्छरों की वजह से होता है।

 

मलेरिया (maleriya) रोग होने के कारण क्या है?

आम तौर पर मलेरिया रोग एक बिशेष प्रकार का मच्छर के काटने पर होता है। यह बिशेष प्रकार का मच्छर एनोफेलीज(Anofheles) होता है जो अपने डंस के सहारे प्लेसमोदीम(plasmodim) परजीवियों को हमारे शरीर में छोड़ देते है। यह plasmodim परजीवी 5 प्रकार के होते है।

vivax

Falciparum

Maleria

Ovale

knowtesi

2.  यह जब हमारे शरीर में आते है तो खून में मिलकर हमारे शरीर की क्रियाबिधि जैसे- पाचन,रक्तप्रवाह सांस लेना आदि को प्रभावित कर देते है।

3.  इतना ही नही किसी मलेरिया से ग्रषित व्यक्ति को अन्य साधारण मच्छर भी काटता है तो परजीवी उसके डंस में लग जाते है और जब वह दूसरे को काटते है तो उसके में मिलकर अन्य मच्छर भी मलेरिया रोग का कारण बन जाते है।

4.  मलेरिया रोग के और भी कारण है जैस गर्भवती महिला के मलेरिया रोग होने पर  यह रोग रक्त के माध्यम से बच्चे को भी हो जाता है।

5.  मलेरिया से ग्रषित व्यक्ति के इलाज के दौरान प्रयोग  सूई (इंजेक्शन) का किसी और के इलाज के दौरान प्रयोग।

 

मलेरिया रोग के लक्षण क्या है?

  1. तेजी से ठंडी लगना और बुखार का आना
  2. आलस्य लग्न या कमजोरी महसूस करना।
  3. उलटी का होना।
  4. सिर में तेज दर्द
  5. जी मचलाना
  6. भूख का कम लगना
  7. सांस लेने में तकलीफ
  8. पेचिस पड़ना
  9. पैरो में दर्द

 

मलेरिया रोग से बचने के उपाय  –

  • सोते समय मच्छरदानी का प्रयोग करे
  • कूलर के पानी को बदलते रहे
  • कई दिनों से जमाव व् सड़े पानी को साफ करे।
  • कीटनाशक दवा की छिडकाव दीवालों पर करे।
  • शरीर पर मच्छरो के बचने के लोशन लगाये।
  • धुँवा करे।

 

मलेरिया रोग का उपचार क्या है?

मलेरिया रोग के लक्षण मिलने पर सबसे पहले जाँच कराये और डॉक्टर की सलाह ले ।

1- इस रोग के होने पर साधारण भोजन करे जैसे खिचड़ी। तेल मसाले वाले भोजन से बचे।

2- भोजन कम फलो का सेवन ज्यादा करे।संतरे का जूस पिए।

3-ज्यादा ठण्ड लगने पर शरीर को पूरी तरह से मोटे कपडे से धक ले और गर्म पानी का सेवन करे।

4- चिरयता को पानी में दाल का उबले और उबालने के बाद उसे छान कर पानी को पिए बुखार जल्दी चला जायेगा ।

5- पानी से भीगी पट्टी को तेज बुखार होने पर माथे पर रखने और हाथ पैर को भी पानी से भीगे कपडे से पोछे।

6-निम्बू पानी का सेवन करे ऐसा करने से पेट साफ होता है और मलेरिया रोग के किटाणु होते है।

7- प्याज के रस को हल्का गर्म करके पिए।

8- काली मिर्च को तुलसी के पत्तो के साथ चबाये।

 

Comments

  1. By BHAGAT RAM

    Reply

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

ध्यान दे की इस साइट पर जो उपाय व नुस्खे बताए जाते है वो प्रयोग किए हुए होते है सभी लेख जानकारी देने के लिए लिखे जाते है उपाय व नुस्खे आज़माने से पहले सोच विचार ज़रूर करे किसी प्रकार की अन्होनी होने पर यह साइट की कोई ज़िम्मेदारी नही होगी|