पेशाब में पस सेल्स का आना (pus cells normal range in urine test)

पस सेल्स क्या होता है ?

दोस्तों आज के इस पोस्ट में हम बात करने वाले है पस सेल्स की, बहुत से लोग जब पेशाब जाच कराते है तो देखते है की रिपोर्ट में पस सेल्स की भी वैल्यू लिखी होती है जिसे वह जानना चाहते है की यह क्या है और इसकी साधारण एरिया या रेंज क्या है तो आज के इस पोस्ट में हम बात करेंगे इसकी ही की क्या होता है पस सेल्स और इसकी साधारण वैल्यू क्या होनी चाहिए –

सबसे पहले बात करे पस सेल्स की तो हम आपको बताना चाहेंगे आप इसे साधारण भाषा में एक प्रकार की गन्दगी कह सकते है जिसके अधिक हो जाने पर यह शरीर के मूत्र मार्ग में संक्रमण फैला देती है जिससे हमें पेशाब से जुडी समस्या जनमती है चलिए हम आपको और भी अच्छे और सरल तरीके से बताते है, हमारे शरीर में खाना खाने , साँस लेने या अन्य कई तरीको से गन्दगी पहुचती है जिसे बाहर निकालना ही होता है इसके अलावा हमारे शरीर की कुछ सेल्स भी होती है जिनके जीवन काल के खतम हो जाने से वह मरती है और नई सेल्स जनम लेती है अब जो  मरी हुयी सेल्स होती है उन्हें भी शरीर बाहर निकालता है यह सब गन्दगी पेशाब के माध्यम से हमारे द्वारा पिए जाने वाले पानी में मिल कर निकल जाते है जो की हर व्यक्ति के साथ होता है और यह सामान्य क्रिया भी है लेकिन दिक्कत तब होती है जब गन्दगी (पस सेल्स) की मात्रा मूत्र में बढ़ जाती है जिससे हमारे मूत्र मार्ग में संक्रमण (मतलब बक्ट्रिया का जमाव होने लगता है ) फैलता है और तमाम समस्या पैदा होती है जैसे –

  1. पेशाब का बार बार आना |
  2. पेशाब में जलन का होना |
  3. पेशाब का पीला ,लाल होना |
  4. पेशाब का कम होना और पेशाब करने में प्रेशर देना |
  5. लिंग से ऊपर के हिस्से में हल्का दर्द |

pus cells ki sadharan range kya hai

पेशाब में पस सेल्स का आना (pus cells in urine test)

पेशाब में पस सेल्स की बात करे की इसका साधारण रेंज क्या है तो हम बता दे की आदमी में इसकी मात्रा 5 तक होनी चाहिए और महिलावो के लिए 8 से 10 होना चाहिए|

पेशाब में पस सेल्स के अधिक आने का कारण

पेशाब में पस सेल्स के अधिक मात्रा में आने के कई कारण है परन्तु जो मुख्य है वह है -शरीर में गन्दगी का अधिक होना ,शरीर में पानी की कमी, मूत्र मार्ग में संक्रमण  |

उपाय –

उपाय या घरेलू नुक्से की बात की जाय तो मै आपसे कहूँगा की जब भी आपको ऐसा लगे की पेशाब में जलन है , पीला पेशाब हो रहा हो तो आप गुनगुना पानी थोडा थोडा कर के अधिक मात्रा में पिए जिससे आपकी ज्यादा से ज्यादा गन्दगी शरीर से बाहर होगी | पेशाब से जुडी समस्या अक्सर गार्मियो के दिनों में ज्यादातर देखी जाती है क्योकि इस समय ही शरीर में पानी की कमी हो जाती है | तो इसके लिए आप शरीर में नमी बनाये रखने वाले भोज्य पदार्थ ज्यादा से ज्यादा ले जैसे ककड़ी ,खीरा ,नारियल पानी ,बेल का सरबत | इसके अलावा आप डॉक्टर से भी मिले ताकि जाच से पता हो सके की क्या वास्तविक दिक्कत है या फिर मूत्र का ph मान क्या है और भी जानकारी जिससे आपका इलाज अच्छे से हो और आपकी समस्या दूर हो जाये |

Comments

  1. By bhawna

    Reply

    • Reply

  2. By Ramesh Chandra

    Reply

    • Reply

    • By Satyam mandal

      Reply

  3. By Shivam kumar

    Reply

  4. By BK

    Reply

    • Reply

  5. By PREM SHANKER

    Reply

    • Reply

  6. By Sandeep mhaske

    Reply

    • Reply

  7. By jujhar singh

    Reply

    • Reply

  8. By Shivang Tiwari

    Reply

    • Reply

      • By Shivang Tiwari

        Reply

  9. By Khushi

    Reply

    • Reply

      • By nitinpatel

        Reply

  10. By Ankita

    Reply

    • Reply

  11. By Lucky

    Reply

    • Reply

  12. By vipin jha

    Reply

    • Reply

  13. By vipin jha

    Reply

    • By vipin jha

      Reply

    • Reply

  14. By Durg

    Reply

    • Reply

      • By Durg

        Reply

        • Reply

          • By Durg

          • By Durg

  15. By ruby

    Reply

    • Reply

  16. By Nav Kiran Kaur

    Reply

  17. By Sharad

    Reply

    • Reply

      • By Sharad

        Reply

  18. Reply

  19. By Ajeet

    Reply

    • Reply

  20. By deepak kumar

    Reply

  21. By Durg

    Reply

  22. By Durg

    Reply

    • Reply

  23. By Gurish

    Reply

    • Reply

  24. By kapil

    Reply

    • Reply

  25. By Gurminder

    Reply

    • Reply

      • By Gurminder

        Reply

    • By Gurminder

      Reply

  26. By Ajay Lohia

    Reply

  27. By Ritu

    Reply

  28. By Rajani bora

    Reply

  29. By Swati Gupta

    Reply

    • Reply

  30. By Shailesh Kumar Tiwari

    Reply

    • Reply

  31. By Abdullah

    Reply

  32. By Sandeep

    Reply

  33. By Sk

    Reply

    • Reply

  34. Reply

    • Reply

  35. By ansh

    Reply

  36. By Harman

    Reply

    • Reply

  37. By Man singh

    Reply

    • Reply

  38. By tushar kanti bhattacharya

    Reply

  39. By Inderjit Giri

    Reply

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *